Formulir Kontak

Name

Email *

Message *

इलेक्ट्रॉनिक्स / इलेक्ट्रिकल, सेमीकंडक्टर, इंडक्टर्स, रजिस्टेंस, इलेक्ट्रॉनिक प्रोजेक्ट, बेसिक इलेक्ट्रॉनिक, इलेक्ट्रॉनिक्स ट्यूटोरियल, कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी, और इसी तरह के अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स संबंधित जानकारीयाँ पूर्ण रूप से हिन्दी में ……

Sunday, February 24, 2019

uninterruptible power supply block diagram and fundamental.

uninterruptible power supply 

uninterruptible power supply
sine wave uninterruptible power supply "UPS"
Uninterruptible Power Supply एक पावर Backup प्रदान करनें वाली इलेक्ट्रानिक डिवाईस है। जो सीमित समय के लिए संबंधीत उपकणों को विधुत आपुर्ति करता है, जहां ज्यादातर संवेदशील इलेक्ट्रानिक उपकरणों का उपयोग किया जाता है वहां पर उसकी मेन A/C पावर में आनेंवाले Power Fluctuation और पावर कट जैसे समस्याओं से निजात पाने के लिए इस डिवाईस का उपयोग किया जाता है, यह मेन A/C से प्राप्त पावर स्रोत के वोल्टेज को नियंत्रित करनें के अलावा उसके फ्रिक्वेंशी दर को भी नियंत्रित करता है, अगर कंप्युटर जैसे संवेदनशील उपकरण को चलाते समय मेन A/C की विजली आपूर्ति एका-एक समाप्त हो जाये तो एक कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर खराब हो जानें की संभावना बनी रहती है, हार्डवेयर में रैम, मदरबोर्ड, हार्डडीस्क और ATX पावर सप्लाई आदि खराब हो सकते है, तथा सॉफ्टवेयर के अंतर्गत उसमें विधमान महत्वपूर्ण डेटा के अलावा कभी-कभी पुरी विन्डोज ही खराब हो जानें की संभावना होती है। तो आज हम इसी बारे में विस्तृत रूप से जानेंगे की Uninterruptible Power Supply क्या है, और अपनें उपयोग के लिए हमें किस प्रकार से इसका चुनाव करना चाहिए।
uninterruptible power supply circuit
ups circuit

      आम तौर पर इसका उपयोग कंप्यूटर संबंधीत उपकरणों और मेडिकल क्षेत्र में उपयोग किये जानें वाले संवेदनशील उपकरणों के सुरक्षा के दृष्टिकोण से इस उपकरण का उपयोग किया जाता है,ये कई प्रकार के रेटिंग में बाजारों में उपल्बध होतें हैं परंतु हमेंशा ही अपनें उपयोग के अनुसार ही एक अच्छे Uninterruptible Power Supply का चयन करना उचित होता है। इसके लिऐ अपनें उपयोग किये जानें वाले उपकरणों के  लोड की गणना आवशय ही कर लेनी चाहिए, जिससे कि एक सही Uninterruptible Power Supply का चुनाव हो सके जो आपके उपयोग के अनुसार सही हो अपनें उपयोग से ज्यादा रेटिंग के UPS खरिदना कोई अच्छा विचार नहीं है, क्योंकि सबसे पहले तो आपको बडे Uninterruptible Power Supply के लिया ज्यादा रकम खर्च करनें होंगे, इसके बाद उस UPS में लगानें वाली ज्यादा बडी बैट्री की भी आवशयकता होगी और इन दोनों को मिलानें से आपके खर्च काफी ज्यादा बढ़ जायेंगे, और यहाँ मुल रूप में आपके लोड़ के अनुसार इसकी कोई आवशयकात नहीं, क्योंकि आपके पास उतना ज्यादा लोड नहीं है, परंतु अगर आपके उपकरणें की लोड गणना के अनुसार जो रेटिंग होगी उसे तो आपको परचेज करना ही होगा एक अच्छे प्रकार के Uninterruptible Power Supply के चयन के लिए निम्नलिखित मुख्य बातों को ध्यान में रखना आवशयक होता है।
online uninterruptible power supply block diagram
online ups block diagram
वेभ फार्म के अनुसार
एक अच्छे प्रकार के Uninterruptible Power Supply के चुनाव में इस बात का हमेंशा ध्यान रखना चाहिए कि उसमें उपयोग होनें वाला A/C  वेभ फार्म किस प्रकार का उपयोग किया गया है Pulse Width Modulation जैसे युक्त Uninterruptible Power Supply कंप्यूटर जैसे संवेदशील उपकरणों के लिए ज्यादा उप्युक्त होते है, अगर और किसी साधारण प्रकार के कार्य के लिए उपयोग करना हो तो किसी अन्य प्रकार के Modulation युक्त Uninterruptible Power Supply का चुनाव किया जा सकता है, पर बेहतर यही होगा की जिस Uninterruptible Power Supply में Pulse Width Modulation का उपयोग किया गया हो उसका चुनाव करें, यह संवेदनशील उपकरणों के लिए ज्यादा सुरक्षित चुनाव है/
UPS उपयोग किये जानें वाली प्रणालि के अनुसार
Uninterruptible Power Supply के सर्किट निमार्ण के अंतर्गत उसके स्विचिंग प्रणाली में कई प्रकार के सेमी कंडक्टर का उपयोग किया जाता है इसमें उपयोग किये जानें वाले मुख्य स्विचिंग सेमी कंडक्टर की प्रकृति किस प्रकार की है इस बात का भी ध्यान रखना आवशयक होता है स्विचिंग प्रकृया में मुख्य रूप से थाईरिस्टर, mosfit, आदि का उपयोग किया जाता है परंतु जिस Uninterruptible Power Supply में इस विभाग के अंतर्गत इन्स्यूलेटेड गेट बाई पोलर ट्रांजिस्टर (IGBT) लगा होता है उस प्रकार के Uninterruptible Power Supply कार्यशिलता में ज्यादा दक्ष होते हैं ये मुख्य A/c स्रोत से आनें वाले तरह तरह के विकृतियों को ठिक करनें में कुशलता से कार्य कर पाते हैं। इसके अलावे ये ज्यादा लोड बर्दाशत करनें में तथा फ्रिक्वेंशी की गतीशीलता को भी काफी हद तक ठीक करनें में कुशल होते हैं, इसके अलावे इनका रेस्पोंस भी काफी अच्छा होता है। 
Offline uninterruptible power supply block diagram
Offline ups block diagram
NOISE लेबल के अनुसार
एक बेहतर Uninterruptible Power Supply की चुनाव में NOISE लेबल को भी ध्यान में रखना चाहिए जितना कम हो सके उतना कम NOISE लेबल वाले Uninterruptible Power Supply का चुनाव करना चाहिए ।
स्विचिंग ओवर टाईम के अनुसार
सुरक्षा की दृष्टिकोण से यह काफी अहम होता कि एक UPS में स्विचिंग ओवर टाईम की क्या स्थिति है एक अच्छे प्रकार के UPS में स्विचिंग ओवर टाईम जितना कम हो उतना अच्छा है, अर्थात वह अपनें से जुडे उपकरणों को पावर कट की अवस्था में कितनी तेजी से इनर्वटर मोड में डाल सकता है वह उसके लिए उतना ही बेहतर होता है क्योंकि जब बिजली होती है उस समय वह अपनें से जुडे उपकरणें को बिजली पर चलाता है और संबंधीत बैट्री को चार्ज करता है, परंतु पावर कट हो जानें की अवस्था में उसे तत्काल इनवर्टर प्रणाली को चालु करनी होती है इस प्रकृया में लगनें वाला समय जितना कम होगा उससे चलाई जानें वाली उपकरण उतनी ही ज्यादा सुरक्षीत होगी ज्यादा समय लगनें का मतलब यह होात है कि कम्प्यूटर जैसे उपकरण या तो रि स्टार्ट हो जायेंगे या वह पुरी तरह से shout down हो जायेंगें जिससे की  उसमें विधमान डेटा समाप्त हो जानें की पुरी संभावना होगी अतः इस चिज पर विशेष ध्यान देना चाहिए कि उसकी स्विचिंग टाईमिंग की स्थिति क्या है।
फ्रीक्वेंसी डिस्टर्ब रहने के अनुसार
पावर के मेन स्रोत में होनें वार्ले फ्रीक्वेंसी में उतार चढ़ाव जो अक्सर होता रहता है जैसी समस्या को जिस UPS के अंतर्गत समाप्त कर एक सुचारू और एक समान फ्रीक्वेंसी बनाये रखनें में जो UPS दक्ष हो उस प्रकार के UPS का चुनाव करना अच्छा होता है उदाहरण स्वरूप भारत जैसे देश के अन्दर विधुत फ्रिक्वेंशी का मानक 50 हर्ट्ज रखा गया है तो यहाँ उपयोग किये जाने वाले इलेक्ट्रानिक उपकरणों को उसी हिंसाब से डिजाईन किया जााता है जो 50 हर्ट्ज़ की फ्रीक्वेंसी पर काम करनें में दक्ष होते है अगर एक UPS के अंतर्गत फ्रिक्वेंशी को इस मानक पर स्थिर रखनें की क्षमता न हो तो वह UPS सही नहीं कहा जायेगा यह अपनें से जुडे उपकरणों के लिए पूर्ण सुरक्षित नहीं होगा अतः एक UPS के खरीदारी के समय इस बात का भी ध्यान रखना सही होता है।
UPS के अंतर्गत सुरक्षा वार्निग प्रकृया के अनुसार
एक अच्छे प्रकार के UPS में विधमान सुरक्षा वार्निग प्रकृया का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए जिसके अंतर्गत ओवर लोड, शोर्ट आदि जैसी समस्याओं के आ जानें के बाद इंडिकेटर और बजर आदि के प्रयोग से उपयोग करनें वाले को तत्काल इसकी जानकारी हो सके, और संबंधित समस्या से निबटनें का जो उपाय हो सके वह जल्दीबाजी में किया जा सके तथा उनसे जुड़ें उपरणों को ज्यादा नुकसान से कुछ हद तक बचाया जा सके।
ओवर लोड प्रकृया के अनुसार
एक बेहतर UPS में ओवर लोड होनें पर ट्रीप होना अथवा पावर कट कर दिया जाना एक महत्वपूर्ण सुरक्षा प्रणालि है, जो एक अच्छे UPS में होना निहायत ही जरूरी होता है इसके आउटपुट से निकलनें वाली बिजली में अगर लोड ज्यादा बढ़ती है अथवा शोर्ट सर्किट होता है तो इस प्रकृया के अंतर्गत पावर कट कर दिया जाता है जिससे कि नुकसान का प्रतिशत काफी धट जाता है इसलिए एक बेहतर UPS का चुनाव करते समय इस प्रणाली की होनें की जांच भी आवशय ही कर लेनी चाहिए।
          अगर आप इन सारे प्वांटों को घ्यान में रखते हुए एक UPS का चुनाव करते हैं तो आप अपनें लिए एक बेहतरीन Uninterruptible Power Supply का चुनाव कर पायेंगे।
-----------------------------------------------
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
 

Delivered by FeedBurner